हार जाउँगा मुकदमा उस अदालत में, 
ये मुझे यकीन था..
जहाँ वक्त बन बैठा जज 
और नसीब मेरा वकील था…